ये बाबा जंजीर से बांध कर करता है मासूम लड़कियों का इलाज, जरूर देखे वीडियो !

कहने को तो हम आधुनिक युग में जीते है और 21 वी सदी की बात करते है. यहाँ तक कि देश को जागरूक बनाने के लिए मेक इन इंडिया, बुलेट ट्रैन और बम निर्माण जैसी वस्तुओ के उत्पादन को बढ़ावा देते है. मगर इतना सब हासिल करने के बाद भी अंध विश्वास का दमन नहीं छोड़ते. जी हां दरअसल हम बात कर रहे है, उन ग्रामीण इलाको की, जहाँ आज भी अंध विश्वास अपनी जड़े फैलाये हुए बैठा है. कुछ गावो में तो इस रूढ़िवादिता के नाम पर आज भी लोगों का शोषण हो रहा है. गौरतलब है, कि महाराजगंज

कहने को तो हम आधुनिक युग में जीते है और 21 वी सदी की बात करते है. यहाँ तक कि देश को जागरूक बनाने के लिए मेक इन इंडिया, बुलेट ट्रैन और बम निर्माण जैसी वस्तुओ के उत्पादन को बढ़ावा देते है. मगर इतना सब हासिल करने के बाद भी अंध विश्वास का दमन नहीं छोड़ते. जी हां दरअसल हम बात कर रहे है, उन ग्रामीण इलाको की, जहाँ आज भी अंध विश्वास अपनी जड़े फैलाये हुए बैठा है. कुछ गावो में तो इस रूढ़िवादिता के नाम पर आज भी लोगों का शोषण हो रहा है.

गौरतलब है, कि महाराजगंज थाना क्षेत्र के बरियार गांव में छत्रपाल भुइहारे बाबा का एक मंदिर है. दरअसल यहां रहने वाले बाबा का दावा है कि वह जादू टोना का इस्तेमाल कर असाध्य रोगो से पीड़ित महिलाओं को मानसिक रूप से ठीक कर सकता है. जब कि वास्तविकता यह है, कि रायबरेली के इस गांव में यह बाबा धर्म और अंध विश्वास का सहारा लेकर भोली भाली महिलाओं और बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार करता है. आपको बता दे कि इस अंध विश्वास की पोल तब सबके सामने खुली जब एक बार बाराबंकी की रहने वाली रक्षा नाम की एक बालिका को इलाज के लिए उसके पिता अयोध्या प्रसाद बाबा के पास ले गए.

आपको जान कर हैरानी नहीं होगी, कि इस बाबा ने पहले तो बच्ची को देखते ही उसे जंजीर द्वारा एक पेड़ से बांध दिया. इसके बाद उसका इलाज शुरू किया. वही अगर वहां रहने वालो की माने तो यह इलाज बीते कई दिनों से ऐसे ही इलाज चल रहा है. यहाँ तक कि पुलिस भी इस मामले को लेकर अपने कान बंद किये बैठी है.

Image result for ये बाबा जंजीर से बांध कर करता है मासूम लड़कियों का इलाज, जरूर देखे वीडियो !

इसके इलावा बच्ची के पिता अयोध्या प्रसाद ने बताया कि इसे शुरुआत से ही फाइलेरिया की शिकायत है. हालांकि हमने उसका इलाज करवाया लेकिन फिर भी उसे प्रभावी आराम न मिल सका. जिसके चलते हम उसे बाबा के पास ले गए. ऐसे में दूसरों की तरह उन्हें भी ये भरोसा है कि यहां उनकी बच्ची बिलकुल स्वस्थ हो जाएगी. दूसरी तरफ इस बारे में जब बाबा से पूछा गया तो वह अपने चमत्कारों का ही गुणगान करने लगे. वैसे हम आपको बाबा के इस चमत्कारी इलाज का एक वीडियो भी दिखाना चाहते है, ताकि आप खुद इसे देखे और ये तय करे, कि इस तरह का इलाज और अंध विश्वास कहा तक सही है.