इलाज के बहाने महिलाओं से करता है ये गंदी हरकत, नाम है चिमटा वाले बाबा, देखे विडियो !

चिमटा से मारने वाले इस बाबा के यहां आस्थावान लोग अपना मर्ज लेकर इस उम्मीद से आते हैं कि बाबा इसे ठीक कर देंगे। वहीं बाबा मर्ज ठीक करने के नाम पर महिलाओं के साथ कई बार अश्लील हरकतें भी करते हुए देखा जाता है।राजनांदगांव शहर से 60 किलोमीटर दूर है भोलापुर गांव। यहां एक शख्स भगत देशलहरे चिमटावाले बाबा के नाम से प्रसिद्ध है। रविवार, बुधवार और शुक्रवार को इलाज कराने वालों की इतनी भीड़ रहती है, जितनी छुरिया और डोंगरगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी में भी नहीं होती।यहां लोगों में अंधविश्वास इतना हावी है कि लोग

चिमटा से मारने वाले इस बाबा के यहां आस्थावान लोग अपना मर्ज लेकर इस उम्मीद से आते हैं कि बाबा इसे ठीक कर देंगे। वहीं बाबा मर्ज ठीक करने के नाम पर महिलाओं के साथ कई बार अश्लील हरकतें भी करते हुए देखा जाता है।राजनांदगांव शहर से 60 किलोमीटर दूर है भोलापुर गांव। यहां एक शख्स भगत देशलहरे चिमटावाले बाबा के नाम से प्रसिद्ध है। रविवार, बुधवार और शुक्रवार को इलाज कराने वालों की इतनी भीड़ रहती है, जितनी छुरिया और डोंगरगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी में भी नहीं होती।यहां लोगों में अंधविश्वास इतना हावी है कि लोग अपने मर्ज का इलाज कराने अस्पताल नहीं बल्कि बाबा के यहां जाना पसंद करते हैं।यहां बाबा बीमारी को ग्रह नक्षत्र की बुरी दशा, भूत-प्रेत और जादू-टोने का नाम दे उसी अंदाज में इलाज करते हैं |

भोलापुर गांव का एक शख्स भगत देशलहरे चिमटावाले बाबा के नाम से प्रसिद्ध है।

रविवार, बुधवार और शुक्रवार को इलाज कराने वालों की इतनी भीड़ रहती है, जितनी छुरिया और डोंगरगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी में भी नहीं होती।यहां लोगों में अंधविश्वास इतना हावी है कि लोग अपने मर्ज का इलाज कराने अस्पताल नहीं बल्कि बाबा के यहां जाना पसंद करते हैं।यहां बाबा बीमारी को ग्रह नक्षत्र की बुरी दशा, भूत-प्रेत और जादू-टोने का नाम दे उसी अंदाज में इलाज करते हैं| छुरिया सीएचसी में रोजाना100 मरीजों की ओपीडी है, डोंगरगांव में लगभग 200 मरीजों की है।

पर यह बाबा करता है महिलाओं से अश्लील हरकतें |

वहीं बाबा के दरबार में चिमटे की मार और भभूत के लिए करीब 300 से ज्यादा लोग आते हैं। रविवार को ये संख्या कई बार 400 से भी ज्यादा हो जाती हैबाबा के यहां आने वाले मरीजों में सबसे अधिक पागलपन के मरीज होते हैं। इसके अलावा कमर दर्द, मां का दूध न उतरना, बच्चे नहीं होना, माइग्रेन समेत गृह क्लेश, पड़ोसी से किसी तरह का विवाद हो जैसी समस्याएं बाबा चावल और भभूत देने के बाद चिमटे से मारकर ठीक कर देते हैं

देखिये वीडियो |