इन 5 जगहों पर भूलकर भी न बनाएं शारीरिक संबंध, वरना ‘महापाप’ के भागी बनेंगे आप!

वास्तुशास्त्र में हमारे जीवन से संभंधित कई ऐसी बातें बताई हैं | जिसका पालन करने से हमारे घर में कभी भी नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होता है | बल्कि इनतरीको और सुझावों को मान कर हम अपनी जिंदगी को सरल व् सुरक्षित बनासकते हैं | और यह उपाय हमें अपनी जिंदगी में सही दिशा की और चलने का सन्देश देती हैं | तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपाय बताने  वाले हैं जिनसे आप खुद को महापापी बंनने के भोग से बचा सकते हैं | जी हाँ यह तो हम सभी जानते हैं के विवाह पूर्व शारीरिक संबंध

वास्तुशास्त्र में हमारे जीवन से संभंधित कई ऐसी बातें बताई हैं | जिसका पालन करने से हमारे घर में कभी भी नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होता है | बल्कि इनतरीको और सुझावों को मान कर हम अपनी जिंदगी को सरल व् सुरक्षित बनासकते हैं | और यह उपाय हमें अपनी जिंदगी में सही दिशा की और चलने का सन्देश देती हैं | तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपाय बताने  वाले हैं जिनसे आप खुद को महापापी बंनने के भोग से बचा सकते हैं | जी हाँ यह तो हम सभी जानते हैं के विवाह पूर्व शारीरिक संबंध को हर धर्म में महापाप ही माना गया है।लेकिन आजकल के बदलते परिवेश में सबकुछ बदल गया है। नई पीढ़ी के युवाओं के लिए ये सब बेकार की बातें हैं। लड़के – लड़कियां शादी से पहले साथ रहते हैं और शारीरिक संबंधों से भी उन्हें कोई गुरेज नहीं है।लेकिन, यहां एक बात आपके लिए जाननी जरूरी है कि कुछ ऐसी भी जगहें होती हैं, जहां शारीरिक संबंध बनाना महापाप माना जाता है।तो आज हम आपको यही बताने वाले हैं तो चलिए जानते हैं |

पवित्र नदी के पास :

शास्त्रों के मुताबिक कहीं भी और किसी भी पवित्र नदी के आसपास शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। शास्त्रों में ऐसे संबंध को युद्ध का आमंत्रण माना जाता है। इतिहास में इस बात का प्रमाण मिलता है। जब ऋषि पराशर एवं सत्यवती के रिश्ते की वजह से ही महाभारत की शुरुआत हुई थी।

अग्नि के पास :

भूलकर भी ऐसी जगह पर जहां आसपास अग्नि प्रज्वलित हो शारीरिक संबंध ना बनाएं। अग्नि को हिन्दू धर्म में ‘देवता’ माना गया है, इसलिए अग्नि के पास बनाए गये संबंध को अपवित्र और महापाप माना गया है।

बीमार व्यक्ति के आसपास :

यदि आपके घर में या एक ही छत के नीच कोई ऐसा व्यक्ति हो जो काफी बीमार है और मृत्यु की कगार पर है, तो ऐसी जगह पर शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए।

यदि पास हो कोई ब्राह्मण या ऋषि-मुनि :

यदि आपके घर के आसपास कोई ब्राह्मण हो या ऋषि-मुनि या फिर कोई ऐसा महान पुरुष जिसे लोग अपना आदर्श मानते हों, ऐसी जगहों पर शारीरिक संबंध न बनायें। ये उनका अपमान होगा और आप महापाप के भागी बनेंगे।

मंदिर परिसर और नवजात की उपस्थिति में :शास्त्रों के मुताबिक नवजात की उपस्थिति में शारीरिक संबंध बनाना महापाप है। पति-पत्नी को भी इससे बचना चाहिए। यह तो सभी को ज्ञात है कि मंदिर परिसर में शारीरिक संबंध बनाना वर्जित माना गया है। यह महापाप है।